मनमोहन सरकार के दौरान रह चुके विदेश मंत्री ने राहुल गाँधी की खोल दी पोल, दिया ऐसा ब्यान छिड़ सकती है बहस

354

S.M. Krishna opened Rahul Gandhi poll: राजनीती की दुनिया में एक बात तो तय है कब कौन सा नेता किसके बारे में कौन सी जानकारी लिक कर दे यह कोई नहीं जानता। आप को बता दे की मिडिया में कांग्रेस अध्यछ राहुल गाँधी के खिलाफ एक ऐसा ब्यान आया है, जिसके बाद एक नई बहस शुरू हो सकती है। आप को बता दे की राहुल जी के ऊपर यह ब्यान मनमोहन सरकार के दौरान रह चुके विदेश मंत्री द्वारा दिया गया है। इस ब्यान के जरिये राहुल गाँधी पर जमकर निशाना साधा गया है।

S.M. Krishna opened Rahul Gandhi poll –

आप को बता दे की यूपीए की सरकार केंद्र में थी उस दौरान मनमोहन सिंह प्रधानमंत्री थे, वही विदेश मंत्रालय जैसा बहुत ही अहम विभाग एस.एम. कृष्णा (S.M. Krishna) जी को सौपा गया था। एस.एम. कृष्णा ने मनमोहन सरकार के दौरान राहुल गाँधी की गतिबिधि को लेकर इन्होंने बहुत बड़ी बात का खुलाशा किये है।

आप को बता दे की अब एस.एम. कृष्णा (S.M. Krishna) कांग्रेस की पार्टी को छोड़ चुके है, और वह बीजेपी में शामिल है। उन्होंने कांग्रेस पार्टी छोड़ने के ऊपर मिडिया से खुलकर बात करते हुए बताये की जिस समय मनमोहन जी की सरकार थी उस दौरान किसी भी काम में राहुल गाँधी का इतना ज्यादा हस्तक्षेप होता था की काम करना बहुत ही मुश्किल हो गया था। उन्होंने कहा की उस समय राहुल गाँधी सिर्फ सांसद थे, लेकिन मनमोहन सरकार द्वारा लिए जाने वाले सभी फैसलों में उनका दख़लंदाजी तय होता था।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट ने भी किया था खुलाशा –

आप को बता दे की टाइम्स ऑफ इंडिया के द्वारा जारी रिपोर्ट के अनुसार कर्नाटक के मुख्यमंत्री (S.M. Krishna) ने ब्यान दिया है की मनमोहन की सरकार के समय विदेश मंत्री रहते हुए उन्हें कोई भी काम करने के दौरान राहुल गाँधी का हस्तक्षेप झेलने पड़ते थे, जो की उनके लिए यह सब बहुत ही असहनीय होता था। उस समय राहुल गाँधी दस सालो तक सिर्फ सांसद थे, लेकिन सरकार के सभी मामलो में अंदुरनी हस्तछेप वही करते थे।

उन्होंने यह भी कहा की ये सब एक अच्छे लीडर के अभाव के कारन हो रहा था। साथ ही पूर्व विदेश मंत्री ने ये भी कहा की मनमोहन सिंह सिर्फ नाम के पीएम थे, क्योकि मनमोहन सिंह को भी बिना बताये कई मामलो में संज्ञान ले लिया जाता था। एस.एम. कृष्णा (S.M. Krishna) के मुताबिक कांग्रेस अपने सभी दलों पर इसी कारन ठीक से नियंत्रण नहीं रख पाई। जिसकी वजह से टू जी, कोल और कॉमनवेल्थ जैसे बड़े-बड़े घोटाले सफल हो गए।

एस.एम. कृष्णा (S.M. Krishna) ने साफ-साफ कहा उस समय की कैबिनेट में सरकार का कोई नियंत्रण नहीं था, क्योकि सभी लोग राहुल गाँधी के कंट्रोल में रहा करते थे। जितने भी फैसले उस समय सरकार द्वारा लिए जाते उन सभी में राहुल गाँधी के बिना कुछ भी मुमकिन नहीं होता था।……Next