रेलवे स्टेशन पर स्वीपर है पिता, लेकिन अब इनकी बेटी अपराधियों के छक्के छुड़ाएगी जानिए इस बेटी की संघर्ष भरी कहानी

636
Breaking News, Viral News, Latest News, Trending News, Hindi News, Latest News hindi, India, HindustanFeed, Bihar daughter struggle story

Bihar daughter struggle story: कहा जाता है की किसी भी चीज की चाहत अगर दिल में सच्ची श्रद्धा और लगन के साथ हो और उस चीज को पाने के लिए किया गया कड़ी मेहनत कभी भी बेकार नहीं जाता है। ऐसी ही एक घटना रेलवे स्टेशन पर झाड़ू लगाने वाले पिता के बेटी के साथ हुआ है। एक साधारण परिवार के साथ जीवन में कई चीजों के शम्झौता करने के बाद भी किसी तरह से अपनी पढाई और घर पर ही कठिन तैयारी की बदौलत आज इनकी बेटी का सपना हक्कीकत में बदल गया है।

Bihar daughter struggle story –

दरअसल आप को बता दे की सच ही कहा गया है की कीचड़ में ही कमल खिलते है। आप को बता दे की बिहार राज्य के पूर्णिया जिले के खुश्कीबाग रेलवे कॉलोनी में रहने वाली रेलवे स्टेशन पर झाड़ू लगाने वाले पिता की बेटी आज बिहार Breaking News, Viral News, Latest News, Trending News, Hindi News, Latest News hindi, India, HindustanFeed, Bihar daughter struggle storyपुलिस में दरोगा बन गई है। वही आप को बता दे की इनके पिता बेटी के दरोगा बनने के खुसी से फुले नहीं समा रहे है। दरअसल आप को बता दे की, सुबोध कुमार मेहता जो की पूर्णिया रेलवे जंक्शन में स्वीपर का काम किया करते है। इनकी बेटी दरोगा भर्ती की सभी प्रारूपों के इंतिहान में पास कर गई है।

सुबोध कुमार मेहता की बेटी का नाम पुष्पा है। और पुष्पा की माँ का नाम गीता देवी है जो की एक हाउस वाइफ है। पुष्पा की दो बहन और एक भाई है जिनमे पुष्पा सबसे बड़ी है। पुष्पा दरोगा बनाने के बाद बहुत ही खुश है और वो कहती है की घर में हमेसा से आर्थिक स्थिति हमेसा तंगी में रहती थी इस वजह से कोई भी एक्स्ट्रा टुएशन नहीं कर पाती थी। फिर भी हम अपने घर वालो की हमेसा से आभारी रहूगी की इस तंगी आर्थिक स्थिति भरी जिंदगी में भी हमें पुरे घरवालों ने हमेसा से सपोर्ट ही किया।

पुष्पा बताती है घरवालों का मेरे प्रति सपोर्ट –

पुष्पा बताती है की घरवालों का मेरे प्रति सपोर्ट ही हमें हमेसा से हिम्मद देती थी, आज इसी की बदौलत दरोगा के पद पर मेरा सलेक्शन हो पाया है। यह बात कहते हुए उनके आँखों से आँशु छलक आये, पुष्पा बताती है की मेरे पिताजी रेलवे में Breaking News, Viral News, Latest News, Trending News, Hindi News, Latest News hindi, India, HindustanFeed, Bihar daughter struggle storyएक सफाई कर्मचारी है और इस वजह से बहुत ही सिमित पैसा सैलरी के रूप में मिल पाता था वही कभी कभी पर्व और त्योहारो में तो बहुत ही जयादा आर्थिक तंगी घर में हो जाती थी। लेकिन इन सब के बाबजूद मेरे परिवार वालो ने संघर्ष कर मुझे हमेशा आगे बढ़ने के लिए हमेसा प्रेरित करते रहे और सपोर्ट करते रहे।

पुष्पा बताती है परिवार बालो को हमसे अच्छी नौकरी करने का बहुत ही उम्मीद हमेसा लगा रहता था। और उनके सपने को पूरा करने के लिए मैंने भी कभी हार नहीं मानी और लगातर संघर्ष कर पढाई करती रही इसी का परिणाम है की आज मै इस मुकाम को हासिल कर सकी। वही पिता कहते है की ये मेरी बेटी किसी भी बेटे से कम नहीं है। मेरी लाड़ली बेटी ने मेरा आज मान बढ़ाया है जिसके कारन आज मेरा सीना चौड़ा हो गया है। हमें अपनी बेटी पर आज फक्र महसूस हो रहा है, की इसने मेरे सपने को पूरा कर दिया।

पुष्पा के पिता सुबोध कुमार ने कहा –

पुष्पा के पिता सुबोध कुमार मेहता कहते है, अपनी बेटी की कामयाबी के लिए जीवन में बहुत संघर्ष किया, बहुत सारी समझौते कर अपनी बेटी को कभी भी बेटे से कम नहीं माना कभी भी अपने बेटी और बेटो को फर्क महसूस नहीं होने दिया। वही मेरी बेटी ने आज मेरा बहुत बड़ा सपना पूरा कर दिया। वही पुष्पा के पिता सुबोध कुमार मेहता ने आगे कहा की अब हमारी बेटी आगे बीपीएससी की भी तैयारी जारी रखेगी और हमें उम्मीद है की बीपीएससी में सफलता हासिल कर हमें गौरान्वित करेगी।

पुष्पा की पढाई –

आप की जानकारी के लिए बता दे की साल 2009 में पुष्पा ने मैट्रिकुलेशन किया था। उसके बाद 2011 में इंटरमीडिएट किया था। और फिर आगे की पढाई 2015 में नेशनल डिग्री कॉलेज, रामबाग से ग्रेजुएशन की डिग्री फाइनल की थी। इसके बाद से आर्थिक स्थिति ठीक नहीं होने के कारन आगे की पढाई तो नहीं कर सकी लेकिन घर पर है नौकरी के लिए अपनी मेहनत करती रही। पूर्णिया जंक्शन के स्टेशन अधीक्षक मुन्ना कुमार कहते हैं, सुबोध अपनी ड्यूटी के साथ-साथ बच्चों के प्रति भी काफी सजग हैं इसी का परिणाम है आज उनकी बेटी इस मुकाम को हासिल कर सकी है। …..Next

ये भी देखें – भाई और बहन ट्रेन में यात्रा कर रहे थे, तभी 5-6 यात्री करने लगे ऐसी हरकत, भाई ने रेल मंत्री को ट्वीट कर कहा, सर प्लीज मेरी बहन को बचा लो