पैसेंजर्स का बैग छूट गया था ऑटो में, जब ड्राइवर की नजर पड़ी तो खोल कर देखा उसमे थे 10 लाख रु, कर्ज में दबे होने के बाद भी नहीं डगमगाया ऑटो ड्राइवर का ईमान लौटाए पैसे

479

Auto Driver Return 10 Lakh Rupees: हैदराबाद में एक ऑटो ड्राइवर और दो पैसेंजर्स के साथ ऐसी घटना घटी जिसमे ऑटो ड्राइवर ने अपनी ईमानदारी की बहुत बड़ी मिशाल पेश की। जिसके बाद सोशल मिडिया पर उस ऑटो ड्राइवर की ईमानदारी की खूब चर्चे हो रहे है। आप को बता दे ऑटो ड्राइवर पहले से ही कर्ज में डूबा था, लेकिन ऑटो में पैसेंजर्स का एक बैग में 10 लाख रुपये छूटने के बाद भी नहीं डगमगाया ऑटो ड्राइवर का ईमान लौटा दिए पैसे।

Auto Driver Return 10 Lakh Rupees –

दरअसल आप की जानकारी के लिए बता दे की यह घटना हैदराबाद की है। यहाँ ऑटो चलाने वाले ड्राइवर (Auto Driver) जे रामुलू के साथ यह घटना बुधवार को घटी थी। इनके ऑटो को श्रीराम नगर कॉलोनी जाने के लिए दो पैसेंजर्स चढ़े थे। उसके बाद ड्राइवर जे रामुलू ने दोनों पैसेंजर्स को गचिबावली इलाके की श्रीराम नगर कॉलोनी ले जाकर छोड़ा था।

दोनों पैसेंजर्स आपस में भाई थे, और दोनों किराने का दुकान चलाते है। दोनों भाई का नाम के प्रसाद और के किशोर हैं। और दोनों भाई श्रीराम नगर कॉलोनी में ही एक अपना माकन बनवा रहे है, उसी के लिए इन्होंने 10 लाख रुपये लेकर आ रहे थे। वही एक भाई के पैर में फ्रैक्चर था, साथ ही बहुत ज्यादा उनके पैर में दर्द था। इस वजह से भाई को उतरने में सहारा देने के क्रम में ऑटो से उतरते वक्त पैसो से भरा बैग लेना भूल गए।

कर्ज में दबे होने के बाद भी नहीं डगमगाया ऑटो ड्राइवर का ईमान –

आप को बता दे दोनों पैसेंजर्स को छोड़ने के बाद ऑटो ड्राइवर (Auto Driver) लौट रहा था और दूर भी निकल चूका था। ड्राइवर ने बताया की उस समय सिकंदराबाद के जुबली बस स्टेशन के पास पहुंच गया था। तभी पीछे मुड़कर देखा तो ऑटो में बैग नजर आया। जब बैग तो खोलकर देखा तो उसके होस उड़ गए, क्योकि उसमे 10 लाख रुपये थे। ऑटो ड्राइवर समझ गया की ये पैसे उन्ही दोनों पैसेंजर्स के है।

वह ऑटो ड्राइवर (Auto Driver) तुरंत ऑटो को मोड़कर गचिबावली इलाके की श्रीराम नगर कॉलोनी में पंहुचा जहाँ पर उसने दोनों को छोड़ा था। वहाँ पहुंचते ही वो दोनों पैसेंजर्स मौजूद मिले। और फिर पुलिस के मौजूदगी में 10 लाख रुपये से भरा बैग लौटा दिया। जिसके बाद दोनों पैसेंजर्स ऑटो ड्राइवर की ईमानदारी को देखते हुए 10 हजार रुपये का इनाम भी दिया। आप को बता दे की ऑटो ड्राइवर पहले से ही 1.5 लाख के कर्ज में डूबा था यह कर्ज से ही ऑटो लिया था। कर्ज में दुबे होने के बाद भी बहुत बड़ी ईमानदारी की मिशाल पेश की ……Next