कृष्ण जन्माष्ठमी 2018: इस मंदिर में 10 करोड़ के गहनों से श्रृंगार करेंगे राधा कृष्ण

645

आज पुरे देश भर में कृष्ण जन्माष्ठमी का त्योहार पुरे धूम धाम के साथ मनाया जा रहा है। इस मौके पर सिंधिया राजवंश के प्राचीन मंदिर में भगवान श्री राधाकृष्ण सौ करोड़ के जेबरातो से सजेंगे। आपकी जानकारी के लिए यह बता दे की इस दौरान मंदिर में भारी सुरछा ब्यबस्था रहेगी। भगवान श्री कृष्ण के दर्शन के लिए यहाँ कई लाख श्रद्धालु फूलबाग इस्थित गोपाल मंदिर पहुचेगे।

ग्वालियर के फूलबाग गोपाल मंदिर में आज भगवान श्री राधाकृष्ण की प्रतिमाये सिंधिया राजवंश के समय की है और मंदिर का निर्माण भी सिंधिया राजवंश ने ही कराया था। इस मंदिर में आजादी के पूर्व से ही सिंधिया राजवंश के सदस्य पूजा अर्चना करते आ रहे है। यहाँ  शाल कृष्ण जन्माष्ठमी के मौके पर भगवान श्री राधाकृष्ण को बैंक लॉकर से आभूषण और जेबरात को निकलकर सजाने की परम्परा है।

यहाँ भगवान की प्रतिमाओ पर हिरे और जवारात से जुड़े स्वर्ण मुकुट पन्ना की सात लड़ी का हार 249 शुद्ध मोतियों की माला हिरे से जड़े कंगन हिरे और सोने की क्यूटी बिशालकाय छत्र पचास किलो चांदी के बर्तन से सजाया जाता है। इसके साथ ही सोने के अन्य कीमती गहनों से सजे भगवान श्री राधाकृष्ण को सजाकर परदर्शित किया जाता है।

कृष्ण जन्माष्ठमी के दिन सुबह  से ही मंदिर परिसर में भारी शंख्या में सुरछा बल तैनात रहते है ताकि किसी भी प्रकार की अनहोनी होने से रोका जा सके। यहाँ पर सभी दर्शनाथी को बहुत सी सघन चेकिंग से जाँच कर ही अंदर परवेस कराया जाता है। और फिर देर रात्रि को श्री कृष्ण जन्म  सभी जेबरात को कड़ी सुरछा के साथ बैंक लॉकर में फिर से बापस रख दिया जाता है।